राम मूरत 'राही'

मजहब से बड़ा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा से तीन किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सड़क किनारे खड़े सेना के एक ट्रक के पास दो बंदूक धारी जवान खड़े थे। तभी एक ग्यारह-बारह वर्ष का एक लड़का उनके नज़दीक आया और एक पहाड़ी की तरफ उंगली से इशारा करते हुए बोला --"साब जी !...उस पहाड़ी के पास मैंने दो आतंकवादियों को छुपते हुए देखा है।"
उन दोनों जवानों में से एक बोला --" तुम वहाँ क्या करने गये थे ?" Subscribe Now

पूछताछ करें