मोहन कुमार डहेरिया

अनुप्रासिक काव्य युक्तियों का नया कोलाज

' नया रास्ता ' हरे प्रकाश उपाध्याय का दूसरा कविता संग्रह है। एक ऐसे दौर में जब बहुत से पुराने रास्ते अप्रासंगिक होकर जहरीली वैचारिक खर पतवारों से घिर चुके हैं। उन पर चलकर  बड़े कद की मनुष्यता के लिए कोई अग्निधर्मी स्वप्न्न देखना संभव नहीं रह गया है ; ऐसे हालतों में हरे प्रकाश के अंदर का कवि का हौसला इन जटिल , भयावह हालातों में भी टूटकर बिखरा नहीं है । उनके कविता संग्रह ना....

Subscribe Now

पूछताछ करें