डाॅ. नीलोत्पल रमेश,

खंडित होते समय की कविताएं

'रथ के धूल भरे पाँव' अजित कुमार राय का दूसरा कविता-संग्रह है जो हाल ही में प्रकाशित होकर आया है। इस संग्रह की अनेक कविताएँ विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं। इसके पहले इनका एक कविता-संग्रह 'आस्था अभी शेष है' बहुत पहले प्रकाशित हुआ था। लंबे अंतराल के बाद इनका दूसरा कविता-संग्रह पाठकों के बीच आया है। कवि ने इस संग्रह को अपने कवि कर्म का दूसरा विस्थापन मान....

Subscribe Now

पूछताछ करें