पंकज शर्मा

चला गया रेणु को तलाशने वाला यायावर

अफवाहों के दौर में सहसा एक खबर फेसबुक पर तैरते दिखी- ‘नहीं रहे भारत यायावर।’ इस कच्ची ख बर पर यकीन करना कठिन था। लेकिन सच को कितनी देर तक नकारा जा सकता था। चंद मिनटों में यह खबर हिंदी साहित्य की दुनिया में आग की तरह फैल गयी। निधन से एक दिन पहले अपनी ‘उखड़ती सांस’ की  खबर फेसबुक के जरिये उन्होंने बताई थी। वे अपनी ज्यादातर गतिविधियों की सूचना फेसबुक की वाल पर दिया करत....

Subscribe Now

पूछताछ करें