भारत भारद्वाज

‘उपजहि अनत, अनत छवि लहहि’: फ़ादर डॉ- कामिल बुल्के (1909-1982)

पिछले दिनों मैं महामना मदन मोहन मालवीय के पौत्र डॉ- लक्ष्मीधर मालवीय, जिनका निधन जापान में 10 मई 2019 को हुआ, पर श्रद्धांजलि लेख लिख रहा था प्रकाशित ‘हंस’, जून-2019, अचानक प्रसंगवश मुझे फादर कामिल बुल्के याद आये। इन दोनाेंं में इस बात में ही समानता नहीं थी कि दोनों विदेश में मरे, बल्कि आजीवन हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए प्रतिबद्ध रहे। डॉ- मालवीय जापान प्रवास के दौरान ज....

Subscribe Now

पूछताछ करें