भगवान अटलानी

प्रतिरोध

मोटे तौर पर केवल आधा किलोमीटर की परिधि का छोटा पार्क होते हुए भी यह जीवित व जाग्रत पार्क लगता है। तरह-तरह के छोटे-बड़े पेड़ पौधे, फूल, बेलें, हरी-हरी दूब, सुन्दर चबूतरे और किनारों पर रखी  नीली आभा वाली सीमेंट की बेन्चें। पेड़ों के नीचे जॉगिंग ट्रैक पर कदम आगे बढाते हुए महसूस होता है मानो प्रकृति ख़जाना खोल कर बुला रही है, ‘आओ, आकर लूट लो इस खजाने को।’

पार्क म....

Subscribe Now

पूछताछ करें