मुकेश कुमार

फासीवाद का अग्रिम दस्ता

केंद्र सरकार के निर्देशन और दिल्ली पुलिस की देखरेख में हुए दंगे के मीडिया कवरेज ने मीडियाके उन तमाम मीडियाकर्मियों को विचलित किया है जो पत्रकारिता को तोड़ने के लिए नहीं जोड़ने का साधन मानते हैं। ये मीडियाकर्मी केवल भारतीय ही नहीं हैं बल्कि विदेशी मीडिया के तेवर भी असंतोष और क्षोभ से भरे हुए हैं। हालाँकि कई पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के बहादुराना कवरेज की म....

Subscribe Now

पूछताछ करें