हिमांशु शेखर

मैंने प्रेम भारद्वाज के जीवन को तीन चरणों में देखा

2007 में अगस्त महीने में प्रेम भारद्वाज सर से मेरी पहली मुलाकात हुई थी। दि संडे पोस्ट साप्ताहिक के कार्यकारी संपादक प्रेम भारद्वाज ने नौकरी के लिए मेरा इंटरव्यू नोएडा सैक्टर-63 के कार्यालय में लिया था। उस वक्त मैं दिल्ली विश्वविद्यालय में पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहा था। अंतिम वर्ष में था। लेकिन तब तक जनसत्ता में कुछ लेख प्रकाशित हो गए थे। कुछ दूसरे पत्र-पत्रिकाओं में भी छिट....

Subscribe Now

पूछताछ करें