भालचंद जोशी

इस विध्वंस समय में प्रेम

प्रेम अपने आप में इतना बड़ा सच है कि उसके पीछे किंचित भी अपराध छिपाया नहीं जा सकता है, लेकिन बड़ी-से-बड़ी घृणा को परास्त किया जा सकता है। राजनीति और सामाजिक जीवन में इसका बड़ा उदाहरण गांधी हैं। गांधी ने प्रेम को हथियार, औजार और उपचार की भांति इस्तेमाल किया। घृणा का जवाब घृणा या हिंसा से न देकर प्रेम से देने पर जोर दिया और प्रेम की अर्थवत्ता प्रमाणित की। गांधी प्रेम का मूलाधार द....

Subscribe Now

पूछताछ करें