संजय कुमार सिंह

लाल बेहाल माटी

" क्योंकि इतिहास अपने को दुहराता है
अपने ही लोगों को करना होगा विद्रोह
एक दिन तोड़ दी जायेंगी राजमार्ग पर लगी उनकी भी प्रतिमाएँ
राजनीति के बहाने सत्ता-व्यवस्था के गर्भ-गृह में
सुविधाभोगी हो गए उनके प्रेत को
अब और रक्तपान नहीं करने दिया जाएगा
उनके हर तर्क को अब और बर्दाश्त नहीं करेंगे लोग
वे अपने ही अवघातों के हथकण्डों से मारे जायेंगे..."

Subscribe Now

पूछताछ करें