मो. दानिश

     फणीश्वरनाथ रेणु के रिपोर्ताजों में निहित जनपक्षधरता 

रिपोर्ताज पत्रकारिता की एक विशिष्ट विधा है। जब कोई पत्रकार या लेखक किसी घटना से   तथ्य  और  सूचना के स्तर पर ही नहीं बल्कि मुख्य रूप से संवेदना के धरातल पर जुड़कर घटना की जीवंत तस्वीर प्रस्तुत करता है तो रिपोर्ताज की सृष्टि होती है।
 रिपोर्ताज' फ़्रांसीसी भाषा का शब्द है।इसके पर्याय रूप में अंग्रेजी में आमतौर पर 'रिपोर्ट' शब्द प्रयुक्त होता है। लेकिन 'रिपो....

Subscribe Now

पूछताछ करें