स्वप्निल श्रीवास्तव

परती परिकथा का  लोकयथार्थ 

रेणु की   प्रमुख ख्याति  उनके   पहले  उपन्यास – मैला   आंचल से  मिली । यह  उपन्यास  1954  में  प्रकाशित  हुआ । इस   उपन्यास   को  लेकर  अनेक विवाद   हुये -  इस   विवाद  में  उपन्यास  की  कथावस्तु   पर  अपेक्षित चर्चा  नही  हुई  ।किन्ही आलोचकों  को  उपन्यास की  मोहक  लोक – शब्दावली  ने  आकर्षित किया  तो  कोई उसकी  शब्द –योजना  ....

Subscribe Now

पूछताछ करें