पंकज चौधरी

देसी बनाम विदेशी का कंट्रास्ट

साहित्य की सबसे आधुनिक विधा है उपन्यादस। आधुनिक काल में उपन्यायस को ही महाकाव्यि का दर्जा मिला हुआ है। उपन्यासों में हम देखते रहे हैं कि उसमें जीवन के सारे रंग होते हैं। मतलब वह एक पूरा जीवन होता है। एक पूरा जीवन जिस तरह से सुख-दुख, धूप-छांह, प्रेम-वासना, हास्यक-व्यंिग्यु, बुद्धिमानी-मूर्खता, करुणा-क्रूरता, मान-अपमान, भूल-सुधार, गुण-अवगुण और स्वा‍र्थ और समर्पण से भरा होत....

Subscribe Now

पूछताछ करें