भारत भारद्वाज

महापंडित राहुल सांकृत्यायन

महापंडित राहुल सांकृत्यायन का व्यक्तित्व तो विराट था ही, उनका कृतित्व भी विशाल था। उनके जीवन काल में उनकी 125 पुस्तकें प्रकाशित हुई और उनके लेखन के हजारों पृष्ठ असंकलित थे। विलक्षणता उनके लेखन और जीवन दोनों में थी। यह अकारण नहीं है कि प्रसिद्ध इतिहासकार काशी प्रसाद जायसवाल ने उनकी तुलना बुद्ध से की थी। वस्तुतः वे खंडकाव्य नहीं, महाकाव्य थे। वह अनेकानेक विषयों के विद्व....

Subscribe Now

पूछताछ करें