डाॅ. बली सिंह

नवीन बुलडोजर का आख्यान: स्वयं प्रकाश की कहानियां

बुलडोज़र के संबंध में आम धारणा है कि वह उबड़खाबड़ को समतल बनाने का काम करता है.वह ऐसे ढाँचे को गिराने का काम भी करता है जो जर्जर हो चुका है, और ऐसे ढांचे को तोड़ने का काम भी उसी से लिया जाता है, जो स्वत: उग आया हो. ऐसे ढांचे हर शहर और यहाँ तक कि जंगलों में भी, स्थानांतरण की प्रक्रिया में खुद- ब- खुद उग आते हैं. उनको ढहाने का काम भी बुलडोजर ही करता है. फिर उनको गगनचुम्बी इमारतों और कृत्रि....

Subscribe Now

पूछताछ करें