प्रियम अंकित

त्रासदी के अनछुए प्रसंग ‘बलि’

स्वयं प्रकाश ने जब कहानियाँ लिखना शुरू किया, तब ऐसा नहीं था कि फैंटेसी और अमूर्तन का कहानी में उपयोग करने से कहानीकारों को कोई झिझक रही हो । निर्मल वर्मा को उनके कहानी संग्रह ‘कव्वे और कालापानी’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार उसी समय के आस-पास मिला था । सन 80 के दशक के शुरूआती वर्षों में जिन कहानीकारों  ने लिखना शुरू किया और बाद में जिन्हें प्रसिद्धि मिली उनमें एक ओर स....

Subscribe Now

पूछताछ करें