शोभा अक्षर 

अदृश्य को प्रत्यक्ष बनाने वाला लेखन  

प्रस्तुत कहानी संग्रह हिंदी साहित्य की वरिष्ठ लेखिका ‘डॉ- सूर्यबाला की बारह श्रेष्ठ कहानियों’ का एक अद्भुत संकलन है। आठवें दशक के हिन्दी लेखकों में जिन महिला कथाकारों ने अपनी पुख्ता पहचान बनाई है, उनमें सूर्यबाला का नाम विशेष समदूत है। उनकी कहानियों का फलक, व्यष्टि से परे, समष्टि के विस्तृत क्षितिज तक फैला है। 

कहानियों में निहित गहन वैचारिकता के ....

Subscribe Now

पूछताछ करें