वंदना शुक्ला

नींद  

उस एक शख्श ने फिलहाल पूरे देश में खलबली मचा रखी थी |  हर खासोआम की जुबां पर बस एक ही नाम , एक ही तारीख और उस ख़ास तारीख की रौनकें थीं मानों अब किसी और का इंतज़ार व्यर्थ था|
बात हो रही है उस विशिष्ट अतिथि की जो दुनियाँ के सबसे संपन्न और बाहुबली देश का पहरुआ था और भारत देश के प्रमुख के साथ ताज़ा दोस्ती को मज़बूत करने की गर्ज से मय लाव-लश्कर पहली बार हिन्दुस्तान आ रहा था |दोस्ती नयी थ....

Subscribe Now

पूछताछ करें