दिलीप कुमार शर्मा ‘अज्ञात’

खून का पता न मिला तो ताबूत मिल जाएगा

अगर इन्सान को तकब्बुर (घमंड) के बारे में,

अल्लाह की नाराजगी का इल्म हो जाए तो

बंदा सिर्फ फकीरों और गरीबों से मिले और मिट्टी पर बैठा करे। -

मोहम्मद हजरत अली 

 

दो महीने पहले नफीस की अम्मी के घुटने का ऑपरेशन हुआ है। संयोग से यह अच्छा है कि उनका मेडिक्लेम था। नहीं तो यह संभव कह....

Subscribe Now

पूछताछ करें