मार्टिन जाॅन

आओ , आज़ादी - आज़ादी खेलें !  

आओ हम अज़ब देश ,  गज़ब देश  की पेट्रोयोटिक धुन पर 
गाएं नहीं , आज़ादी - आज़ादी खेलें 
देश –देश खेलें !

ध्यान रहे , कुछ कायदे-कानून हैं खेल के जो
सोची –समझी नीति के तहत दर्ज़ है ‘खेल-संविधान’ में
आचार-संहिताओं की फ़ेहरिस्त भी सुप्रचारित है |

बहुत सारे अधिकारों से लैस है ‘रेफरी’
जो झंडों , बैनरों , नारों से पटे मैदान ....

Subscribe Now

पूछताछ करें