लक्ष्मीकांत मुकुल

  यह कैसा समय है

यह कैसा समय है
जब कजरारी घटाएं भूल 
जाती हैं बरसने की जिम्मेदारी 
वनस्पतियां भूल जाती हैं समयानुसार

फूलना - फलना मौसम बदल रहा है ऋतु - चक्र का प्रत्यावर्तन मानसूनी हवाएं पाला बदलकर 
पश्चिमी विक्षोभ में हो रही हैं शामिल 
सूरज की किरणें अत्यधिक 
तड़पा रही है धरती की काया 
पूर्णता से अपनी चांदनी  नहीं बिखेर पा रही है चंद्र....

Subscribe Now

पूछताछ करें