ओम नागर

देश-दिशा से आती खुशबू

दुनिया भर में कौन सा देश किस दिशा में हैं
इससे क्या फरक पड़ता है भला पृथ्वी को

किसी भी दिशा से देख लीजिए
पृथ्वी सिर्फ
पृथ्वी ही रहेंगी

लेकिन जैसी ही देखने लगेंगे देश
हमारा देखना
हो जाएगा कई हिस्सों में विभाजित

हर देश का
अलग बंकर
अलग रंग
आँख की किरकिरी है बस

वो दिन कब आएगा
जब किसी भी दिशा से देखेंगे हम पृथ्वी
साबुत बची दिखे....

Subscribe Now

पूछताछ करें