मूल्यांकन

  • आलोचना के विभिन्न परिसर

    इस पुस्तक में शमशेर पर भी एक लेख है- ‘एक शमशेर भी हैं।’ शमशेर हिंदी के जटिल ही नहीं ऐंद्रिक कवि हैं। विजयदेव नारायण

    पूरा पढ़े
  • प्रेम धार तलवार की

    ऐसी ही प्रेम कहानियां सुषमा मुनींद्र के इस संग्रह में संकलित हैं जिसका शीर्षक है ‘प्रेम संबंधों की कहानियां।’ इस

    पूरा पढ़े
  • हिंदी कविता के प्राइम टाइम कवि

    ‘बोलना’ इस युग की सबसे सम्मानित क्रिया है। बोलना वह भी क्या बोलना नहीं, बल्कि कैसे बोलना और कितने आत्मविश्वास के स

    पूरा पढ़े
  • संवेदना और बौद्धिकता के संतुलन से रची कहानियां

    इस तरह से संग्रह में एक कहानी है ‘धर्मचोर’। आज के दौर में एक कहानी एक जरूरी पाठ बनकर सामने आता है। इस देश में धर्म को

    पूरा पढ़े
  • ‘उपजहि अनत, अनत छवि लहहि’: फ़ादर डॉ- कामिल बुल्के (1909-1982)

    पिछले दिनों मैं महामना मदन मोहन मालवीय के पौत्र डॉ- लक्ष्मीधर मालवीय, जिनका निधन जापान में 10 मई 2019 को हुआ, पर श्रद्धा

    पूरा पढ़े

पूछताछ करें