कहानी

  • पानी की सतह

    समय को गवाह बनाया जाये तो यह वही समय था, जब कांटों की जड़ों तक पहुंचने और अनावश्यक कांटे निकालने का काम जोर-शोर से जार

    पूरा पढ़े
  • कौन सी कसम  

    मोबाइल बजे जा रहा था। उधर से कोई उठा नहीं रहा था, क्या पता साइलेंट पर हो। यह बास का पी ए भी खुद को उसका बाप समझता है। बा

    पूरा पढ़े
  • गद्दोदी

    मैं  कलकत्ता  के बाहरी हिस्से में स्थित एक मध्य आकार के बंगले नुमा घर की ख़ुशनुमा  बैठक में खुशदिली से बैठा हूँ। बैठ

    पूरा पढ़े
  • क़ब्र खोदनेवाला

    अल्लाह बख़्श ने मुँह आसमान की तरफ़ उठा कर कहा और लंबी सीधी सड़क को मायूसी से देखने लगा जिस पर कोई आदमी नज़र न आता। दूर बस

    पूरा पढ़े

पूछताछ करें