गजल

  • पानी पर लिखी इबारतें

    था किसी के लिए उस शहर में कहां पानी जबकि गांवों के भी हिस्से का था वहां पानी सारे ऊंटों पे सर से पा जवाहरात लिये खोजत

    पूरा पढ़े

पूछताछ करें